पेट के कीड़ों को जड़ से खत्म करने के आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपाय



भारत में अधिकतर बच्चों को पेट में कीड़े होने की समस्या बहुत ज्यादा होती है इस समस्या ज्यादातर बच्चों और बुजुर्ग में विशेष रुप से देखी जाती है परंतु कुछ युवाओं को भी इस समस्या का सामना करना पड़ता है पेट के कीड़े होने पर व्यक्ति को अक्सर पेट में दर्द रहता है और पर्याप्त मात्रा में भोजन करने के बाद भी उसे कमजोरी जैसा महसूस होता है जिन लोगों के पेट में कीड़े होते हैं उनका वजन भी तेजी से कम होने लगता है इतना ही नहीं यदि समय रहते इस रोग की पहचान और इलाज न किया जाए तो इससे कई रोग उत्पन्न होने लगते हैं इस समस्या को घरेलू उपायों की मदद से भी आप ठीक कर सकते हैं

पेट में कृमि रोग होने के लक्षण क्या हैं ? :- 

 

व्यक्ति सोते हुए अपने दाँत पीसता है
कई बार नाक में खुजली होती है
मल में सफ़ेद कीड़े दिखना
त्वचा में रूखापन आ जाना
जीभ का रंग सफेद रहना
गालों पर धब्बे दिखना
आँखों का लाल रहना
हल्का सा बुखार आना
पेट दर्द की समस्या रहना
मिथली आना
भोजन में अरुचि होना
शरीर में कमज़ोरी महसूस होना

पेट में कीड़ों की समस्या का मुख्य कारण क्या होता है ? :- 

भूख ना लगने पर खाना खाने की आदत

गंदे हाथों से भोजन खाना

मक्खियों से दूषित हुआ भोजन ग्रहण करना

खट्टी-मीठी वस्तुओं का अधिक सेवन

मैदा, रायता, दही, कढ़ी, पिसा हुआ अन्न

अशुद्ध अथवा दूषित पानी पीना

शरीर की प्रति रक्षा प्रणाली (immunity system) कमज़ोर पड़ने से

कृमि रोग समस्या होने पर आप इन सब चीजों से दूरी बनाए रखें :-

यदि आपके पेट में कृमि हो गए हैं तो आप नमकीन खाना ना खाए ना मछली खाए यह सब चीज ना खाएं इससे और भी ज्यादा कृमि पेट में बढ़ सकता है आप बेसन के पकोड़े भी ज्यादा मात्रा में ना खाए ना आलू ज्यादा खाए और ना ही लाल मिर्च का सेवन ज्यादा करें खटाई भी ज्यादा ना खाए और रात के खाने सुबह ना खाएं इससे और भी पेट की गर्मी बढ़ सकती है और दिन के समय ना सोए यह सब चीज से आप दूर ही रहें यदि आप सिगरेट का सेवन करते हैं मदिरा का सेवन करते हैं तो इस सब चीज का भी सेवन ना करें इससे भी आपके पेट के कृमि बढ़ सकते हैं तो आप यह सब चीजों से दूरी बनाकर रखें

कृमि रोग समस्या हो जाने पर आप इन सब चीजों का सेवन करें :-

कृमि रोग की समस्या होने पर आप आमला का यूज कर सकते हैं और संतरा अदरक का रस एवं चटनी बनाकर यूज कर सकते हैं इसके साथ ही साथ आप शहद नींबू ,मूंग ,हींग ,अजवाइन का रस ,अनानास का रस, सरसों का साग ,राय ,लौकी, करेला ,परवल ऐसे बहुत से चीजों का आप यूज कर सकते हैं यदि आप कृमि रोग समस्या से ग्रसित हैं तो यदि आप इस सब चीजों का यूज कीजिएगा तो आपके कृमि रोग की समस्या धीरे-धीरे कम होने लगेगी और आपके पेट के कीड़े भी मरने लगेंगे

पेट के कीड़ों की समस्या दूर करने के लिये आयुर्वेदिक उपचार :-

 

=>  नीम की कोपलों को कुचल कर इसका एक चम्मच रस निकाल लें और इसे शहद में मिलाकर चाटें इससे पेट के कीड़े मरकर आपके मल के साथ बाहर निकल जाते हैं

=> नीम के पत्तों को सुखाकर पीस लें और इसमें दो चुटकी चूर्ण शहद के साथ सेवन करें

=> करेले के पत्तों का जूस निकालकर और उसे गर्म पानी के साथ पिलाएं

=> 50 ग्राम सोना मक्खी, 50 ग्राम गुलकंद,50 ग्राम शहद ,50 ग्राम अरहर की छाल ,50 ग्राम शॉट इन सभी चीजों का मिश्रण कर लें और छोटी-छोटी गोली बनाकर तैयार कर लीजिए और इन गोलियों को आप दूध के साथ लेना स्टार्ट कीजिए इसके प्रयोग से कुछ ही दिनों में आपके पेट के सारे कीड़े मर जाएंगे इन गोलियों को दिन में कम से कम 2 से 3 बार ले सकते हैं

=> आंवले का रस भी दिन में 3 बार पीने से आपके पेट के कीड़े मर जाएंगे

=> तुलसी के पत्तों का काढ़ा बनाकर पीने से किडनी आपके पेट के मर जाते हैं और इससे बच्चों के किडनी रोग तुरंत दूर हो जाता है

=> कद्दू का रस भी रोजाना पीने से आपके पेट के कीड़े मर जाएंगे

=> इनके साथ बच का चूर्ण लेने पर कृमि रोग दूर हो जाता है बच्चों के कृमि रोग के लिए यह बहुत ही आसान उपाय हैं

=> संतरे का रस दिन में दो से तीन बार पीने से भी आपके पेट के कीड़े मर जाते हैं

=> मूली खाने से भी आपके पेट के कीड़े मर जाते हैं

=> गौमूत्र के साथ पीसी हुई राई का चूरन लेने से भी कृमि रोग दूर होगा। राई का चूरन एक या आधा चम्मच 100ml गौमूत्र के साथ घोल कर पी जाएँ।



Diznr International

Diznr International is known for International Business and Technology Magazine.

error: Content is protected !!